Sunday, May 13, 2012

हम भी अब समझे है,के कुछ भी नही समझे

ऐसा कौन है जो तुझको समझ पाया है (सॅम)
हम भी अब समझे है,के कुछ भी नही समझे


वैसे मुश्किल नहीं हे तुम को समझना
मुश्किल ये है के, मै मुश्किल से समझता हूं
राहुल उज्‍जैनकर 'फराज'

No comments:

Post a Comment